भारत की टॉप 10 यूनिवर्सिटीज

शिक्षा जगत की अहमियत जिस तरह दिन पर दिन बढ़ी है, उसने लोगों को यूनिवर्सिटीज के बारे में भी जागरूक किया है. अब विद्यार्थी आंख बंद करके किसी यूनिवर्सिटी में दाखिला नहीं लेते हैं, बल्कि उसकी जांच पड़ताल करते हैं, उसके एकेडमिक रिकॉर्ड से लेकर उसका प्लेसमेंट रिकॉर्ड तक चेक करते हैं.

ऐसे में जानना महत्वपूर्ण हो जाता है कि भारत की टॉप 10 यूनिवर्सिटीज कौन-कौन सी हैं. आइए देखते हैं –

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु

यह न केवल इंडिया बल्कि विश्व भर के स्टैंडर्ड इंस्टिट्यूट में से एक माना जाता है. यहां एक्सीलेंस और इनोवेशन पर सालों से जोर दिया जाता है और यह प्रक्रिया लगातार चलती रहती है.
साइंस, डिजाइन, इंजीनियरिंग और प्रबंधन के तमाम कोर्स यहां पर चलते हैं. अंडर-ग्रैजुएट प्रोग्राम के लिए यहां आप को मिनिमम 60% एग्रीगेट या इक्विवेलेंट ग्रेड के साथ अप्लाई करना पड़ता है. यूजीसी द्वारा अप्रूव्ड यह संस्थान एसोसिएशन आफ इंडियन यूनिवर्सिटीज का भी सम्मानित सदस्य है.
इसे इंडियन यूनिवर्सिटीज में निर्विवाद रूप से पहले स्थान पर रखा गया है.

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली

हालाँकि, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय यानी जेएनयू की चर्चा कई दूसरे कारणों से भी होती रही है, लेकिन एक बड़ा सच यह भी है कि 1969 ईस्वी में स्थापित यह इंस्टिट्यूट एक से बढ़कर एक प्रतिभाओं को तराशने का काम कर चुका है. आज भी विश्व भर में इस संस्थान का नाम सम्मानित संसथान के रूप में लिया जाता है. ह्यूमन स्टडीज और सोशल साइंस, आईटी सॉफ्टवेयर और इस तरह के तमाम विषय यहां पढ़ाए जाते हैं.
अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम के लिए आपको टेन प्लस टू पास होना चाहिए और उसके बाद एंट्रेंस टेस्ट में उत्तीर्ण होने के पश्चात आप यहां एडमिशन ले सकते हैं. यूजीसी द्वारा यह संस्था अप्रूव्ड है तो एसोसिएशन आफ इंडियन यूनिवर्सिटीज का मेंबर भी है.

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी

बी एच यू को भला कौन नहीं जानता है कि यह संस्थान अंग्रेजों की शिक्षा पद्धति की बजाय भारतीय शिक्षा को प्रमुखता देने के लिए पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा शुरू किया गया था. विश्व भर के सम्मानित शैक्षणिक संस्थानों में इसका नाम आदर के साथ गिना जाता है.
बीएचयू का कैंपस बेहद बड़ा है और इसमें अधिकांश कोर्स कराए जाते हैं. वह चाहे आर्ट्स, कॉमर्स, एजुकेशन, ला, परफॉर्मिंग आर्ट, सोशल साइंस या फिर विजुअल आर्ट का ही विषय क्यों ना हो.
अंडर-ग्रेजुएट कोर्स के लिए आपको टेन प्लस टू पास करना होता है और प्रवेश परीक्षा देने के पश्चात आप यहां प्रवेश ले सकते हैं.

अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई

4 सितंबर 1978 को अन्ना यूनिवर्सिटी की स्थापना की गई थी जो वर्तमान में भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज में शामिल है. 189 एकड़ में फैला इसका मुख्य कैंपस तमाम शैक्षणिक सुविधाओं से भरा हुआ है. इसमें 29 अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम और 90 पोस्ट ग्रैजुएट प्रोग्राम कराए जाते हैं. इसमें एक समय में 16000 से अधिक स्टूडेंट डिग्री प्रोग्राम के लिए एनरोल करते हैं और विभिन्न विभागों में शिक्षा अर्जित करते हैं. यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त यह संस्थान नेशनल एसेसमेंट और एक्रेडिशन काउंसिल द्वारा भी एप्रूव्ड है.

यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद

पोस्ट ग्रेजुएट टीचिंग और रिसर्च के लिए इस संस्थान की स्थापना 2 अक्टूबर 1974 को सेंट्रल यूनिवर्सिटी के तौर पर की गई थी. मैथमेटिक्स और स्टैटिसटिक्स, फिजिक्स, केमिस्ट्री, लाइफ साइंसेज, ह्यूमैनिटीज, सोशल साइंस और मैनेजमेंट स्टडीज, आर्ट और कम्युनिकेशन, इंजीनियरिंग, साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी, मेडिकल साइंसेज, इकोनॉमिक्स और कंप्यूटर इनफॉरमेशन साइंस की पढ़ाई यहां पूरे मनोयोग से होती है.
इस इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है. तमाम बड़ी और रेटिंग एजेंसियों द्वारा यह संस्थान फाइव स्टार की रेटिंग प्राप्त कर चुका है, तो यूजीसी और एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज का मेंबर होने के साथ-साथ एसोसिएशन आफ कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटीज का भी यह सदस्य है.

जादवपुर यूनिवर्सिटी, कोलकाता

24 दिसंबर 1955 को स्थापित यह संस्थान एशिया के टॉप 200 यूनिवर्सिटीज में 84वें स्थान पर मौजूद है. सभी प्रमुख कोर्स यहां कराए जाते हैं और यह यूजीसी के साथ एसोसिएशन आफ इंडियन यूनिवर्सिटीज और नेशनल एसेसमेंट एंड एक्रीडिटेशन काउंसिल द्वारा अप्रूव्ड है.

यूनिवर्सिटी आफ दिल्ली

1922 में स्थापित भारत का यह एक प्रीमीयर शिक्षण संस्थान है. यहां से एक से बढ़कर एक प्रतिभाएं निकली हैं और यहां एक समय में 132000 रेगुलर स्टूडेंट्स, तो तकरीबन 22 लाख 61 हजार नॉन-फॉरमल स्टूडेंट्स पढ़ाई करते हैं. अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, एमफिल, पीएचडी और तमाम दूसरे कोर्स कराने वाली यह यूनिवर्सिटी एसोसिएशन आफ कॉमनवेल्थ, यूनिवर्सिटीज एसोसिएशन आफ इंडियन यूनिवर्सिटीज और यूजीसी एनएएसी द्वारा अप्रूव्ड है.

अमृता विश्व विद्यापीठम, कोयंबटूर

भारत का यह एक प्रमुख शैक्षणिक संस्थान माना जाता है. इसके 6 मुख्य कैंपस हैं, जो केरला और तमिलनाडु के साथ कर्नाटक तक में फैले हुए हैं. अमृतानंदमयी मठ जो एक वैश्विक चैरिटी संस्थान है, उसे यह प्रबंधित होता है. तमाम आर्ट्स और कल्चर के साथ इंजीनियरिंग और साइंस मैनेजमेंट के कोर्स यहां से कराए जाते हैं और यहां एडमिशन लेने के लिए आपको टेन प्लस टू का एग्जाम पहले क्लियर करना होता है. पीजी प्रोग्राम्स के लिए आपको गेट और कैट की रैंकिंग के आधार पर यहां एडमिशन मिलता है.

सावित्रीबाई फूले पुणे यूनिवर्सिटी

1949 में स्थापित यह संस्थान ईस्ट का ऑक्सफोर्ड कहा जाता है. अंडर ग्रेजुएट, ग्रेजुएट और डॉक्टरेट प्रोग्राम सहित तमाम मेजर स्ट्रीम में यहां कोर्सेज ऑफर किए जाते हैं. आर्ट्स, फाइन आर्ट्स, परफॉर्मिंग आर्ट, प्रबंधन, कॉमर्स, फिजिकल एजुकेशन, फार्मास्युटिकल्स साइंस और साइंस से संबंधित तमाम कुर्सियां कराए जाते हैं.
यहां प्रवेश लेने के लिए आपको क्लास ट्वेल्थ में मिनिमम 50 पर सेंट मार्क स्कूल करना होता है इसके बाद ही आप यहां एंट्रेंस एग्जाम में बैठ सकते हैं. यूजीसी द्वारा मान्यता-प्राप्त यह संस्थान एनएएसी द्वारा ए ग्रेड से सम्मानित है.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

1920 में स्थापित यह संस्थान 467.6 हेक्टेयर में फैला हुआ है. ट्रेडिशनल और मॉडर्न एजुकेशन की विभिन्न ब्रांचों में 300 से अधिक कोर्स ऑफर किए जाते हैं, जबकि यहां पढ़ने वालों में न केवल भारत बल्कि एशिया के दूसरे भागों, अफ़्रीका इत्यादि महाद्वीपों से भी आते हैं. अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, डॉक्टरेट प्रोग्राम, एडवांस डिप्लोमा इत्यादि कोर्स यहां से ऑफर किए जाते हैं. यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त यह संस्थान एनएएसी द्वारा एक्रेडिटेड है.

Featured image credit: telegraphindia